जय जिनेन्द्र !

जैसा आप सभी को पता है हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी संपुर्ण जैन व अन्य समाज महावीर जयंती ( भगवान महावीर जन्म कल्याणक) मनाने जा रहा है | येह महावीर भगवान का 2616 वां जन्म कल्याणक है

Shri_Mahavirji_-_Main_Temple

 

आखिर क्यों मनाया जाता है भगवान महावीर जन्म कल्याणक

सत्य अहिंसा का पाठ बताने वाले भगवान महावीर का जन्म ईसा से 599 वर्ष पूर्व चैत्र मास शुक्ल तेरस को बिहार के वैशाली ग्राम में हुआ था ! तभी से इस दिन को महावीर जयंती (भगवान महावीर जन्म कल्याणक ) के रूप में मनाया जाने लगा ! भगवान महावीर जन्म कल्याणक के दिन महावीर जी क़ी झाकियां एवं शोभा-यात्रा निकाली जाती हैं। सम्पूर्ण भारत में जैन मंदिरों में पूजा-अर्चना क़ी जाती है। जैन सम्प्रदाय के लोग विभिन्न प्रकार क़ी समाज सेवा करते हैं , इस दिन सभी के उपयोगकारी रक्त दान व स्वास्थ्य शिविर आयोजित किये जाते है

भगवान महावीर का संछिप्त परिचय 

7134bfc311ceded0450a2f577e36c7da

जन्म का नाम :वर्धमान

माता-पिता का नाम : त्रिशला व सिद्धार्थ

प्रथम गणधर : गौतम गणधर

जैन धर्म के 24 वे तीर्थंकर महावीर भगवान को केवलज्ञान 42 वर्ष में हुआ व निर्वाण (मोक्ष) 72 वर्ष की आयु में बिहार के पावापुरी (राजगीर) में कार्तिक कृष्ण अमावस्या को हुआ

भगवान महावीर के पंचशील सिद्धान्त :

सत्य ,अहिंसा ,अपरिग्रह ,ब्रह्मचर्य व क्षमा

भगवान महावीर के अनमोल वचन

maxresdefault

  • जियो ओर जीने दो
  • हर एक जीवित प्राणी के प्रति दया रखो . घृणा से विनाश होता है
  • स्वयं से लड़ो , बाहरी दुश्मन से क्या लड़ना ? वह जो स्वयम पर विजय कर लेगा उसे आनंद की प्राप्ति होगी.
  • खुद पर विजय प्राप्त करना लाखों शत्रुओं पर विजय पाने से बेहतर है
  • सभी जीवों के प्रति सम्मान अहिंसा है।
  • सीखो समता छोड़ो देष
  • महावीर का एक ही घोष देखो अपना अपना दोष
  • जो निज में रम जाएगा भव सागर तिर जाएगा
  • अहिंसा सबसे बड़ा धर्म है
  • प्रत्येक आत्मा स्वयं में सर्वज्ञ और आनंदमय है। आनंद बाहर से नहीं आता।

 

मैं इस महावीर जन्म कल्याणक पर यही कामना करूँगा की हम सभी इस कल्याण महोत्सव को बढ़ी धूम धाम से मनाए व भगवान महावीर के बताए माँर्ग पर चलकर अपना आत्म कल्याण करे |

 

    जय जिनेन्द्र

text1058653400

Advertisements